Zindagi Shayari in Hindi on Ghar Ghar


  1. आँखों से न ओझल थे,
  2. पहले अपने, अपने थे,
  3. एक घर में आज कई टुकड़े है,
  4. सब एक दूसरे से उखड़े है..

Post a Comment

0 Comments