भीड़ में हंसते हैं मगर तन्हाई में रोया करते


Post a Comment

0 Comments