Jokes Funny Shayari-Romantic love shayari! image download !facebook wallpaper! hindi status

Kabir Das Sayings Quotes Hindiकबीर के दोहे2018


  • #दोहा:- कबीरा खड़ा बाज़ार में, मांगे सबकी खैर!
  • ना काहू से दोस्‍ती, न काहू से बैर!!
  • अर्थ:- इस संसार में आकर कबीर अपने जीवन में बस यही चाहते हैं,
  • कि सबका भला हो और संसार में यदि किसी से दोस्‍ती नहीं तो दुश्‍मनी भी न हो##


  • ##Doha:- Kabira Khada Bazar Mein, Mange Sabki Khair
  • Na Kahu Se Dosti, Na Kahu Se Bair!
  • Meaning:- Is Sansar Mein Aakar Kabir Das Ji Apne Jeevan
  • Mein Bas Yahi Chahte Hain Ki Sabka Bhala Ho Aur
  • Sansar Main Yadi Kisi Se Dosti Nahi To Dusmani Bhi Na Ho


  • ###दोहा:- दोस पराए देखि करि, चला हसन्‍त हसन्‍त,
  • अपने याद न आवई, जिनका आदि न अंत!!
  • अर्थ:- यह मनुष्‍य का स्‍वभाव है कि जब वह
  • दूसरों के दोष देखकर हंसता है, तब उसे अपने
  • दोष याद नहीं आते जिनका न आदि है न अंत##

  • ##Doha:- Dosh Paraye Dekhi Kari, Chala Hasant Hasant,
  • Apne Yaad Na Aawai, Jinka Aadi Na Ant!
  • Meaning:- Yah Manushya Ka Subhav Hai Ki Jab Wah
  • Dusron Ke Dosh Dekhkar Hasata Hai, Tab Use Apne
  • Dosh Yaad Nahi Aate Jinka Na Aadi Hai Na Ant##


  • @@पोथी पढ़ि पढ़ि जग मुआ, पंडित भया न कोय ।
  • ढाई आखर प्रेम का, पढ़े सो पंडित होय###


  • Pothi Padh Padh Jag Mua Pandit Bhaya Na Koi !
  • Dhai Aakhar Prem Ke, Jo Padhe so Pandit Hoye##

  • @@अर्थात्ः- बड़ी बड़ी किताबे पढ़कर संसार में कितने ही लोग  मृत्यु के द्वार पहुंच गए, पर सभी विद्वान न हो सके। कबीर मानते हैं कि यदि कोई प्रेम या ##प्यार के केवल ढाई अक्षर ही अच्छी तरह पढ़ ले। अर्थात प्यार का वास्तविक रूप पहचान ले तो वही सच्चा ज्ञानी होगा##


  • ##दूसरों में बुराई देखने से पूर्व,
  • मनुष्य को यह जान लेना चाहिए कि
  • कही उसमें तो बुराई नहीं है, यदि वह स्वयं ही बुरा है
  • तो उसे दूसरों को बुरा कहने का कोई अधिकार नहीं है@@@

  • !Dusron Main Burai Dekhne Se Purva,
  • Manushya Ko Yah Jaan Lena Chaiye Ki
  • Kahi Usmein To Burai Nahi Hai,
  • Yadi Wah Suyam He Bura Hai
  • To Use Dusron Ko Bura Kehne Ka Koi
  • !!!Adhikaar Nahi Hai!!! 


  • !कबीर दिन के 12 बजे अपने आंगन में बैठे काम कर रहे थे।
  • एक युवक ने सवाल किया ‘‘विवाह करना उचित है या नहीं?’’
  • प्रश्न सुनकर कबीर चुप रहे!
  • फिर थोड़ी देर बाद उन्होंने अपनी पत्नी को आवाज दी कहा:-
  • !!!जरा लालटेन जलाकर लाओ!!!
  • पत्नी लालटेन जलाकर ले आई!
  • युवक बोला ‘‘महात्मा जी! आप जो अजूबा है ही!
  • आपकी पत्नी भी खूब है! अरे धूप में बैठे हो
  • और यहां लालटेन की क्या जरूरत है?
  • कबीर बोले- बस! यही तुम्हारे सवाल का जवाब है! 
  • #पति-पत्नी में समर्पण हो,  ##तर्क न हो तो ही विवाह करना उचित है!!

  • @Kabir Din Ke 12 Baje Apne Angan Main Baithe Kaam Kar Rahe They
  • Ek Yuvak Ne Sawal Kiya “Vivah Karna Uchit Hai Ya Nahi?”
  • Sawal Sunkar Kabir Chup Rahe! Phir Thodi Der Bad Unhone Apni
  • Patni Ko Awaj Di Aur Kaha ” Jara Lalten Jalakar Laao”
  • ###Patni Lalten Jalakar Le Aai####
  • Yuvak Boola ” Mahatma Ji! Aap To Ajuba Hai He!
  • Par Aapki Patni Bhi Khoob Hai! Are! Dhup Main Baithe Ho
  • Aur Yahan Lalten Ki Kya Jarurt Hai?
  • Kabir Boole:- Bas! Yahi Tumhare Sawal Ka Jawab Hai
  • Pati-Patni Main Samarpan Ho, Tark Na Ho To He
  • Vivah Karna Uchit Hai!






No comments:

Post a Comment